कानपुर संवाददाता [शोभित पाण्डेय]। उत्तर प्रदेश में शराब के ठेकों व पान मसाले पर पूर्ण प्रतिबंध की मांग को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से ज्योति बाबा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा…कानपुर 9 मई । उत्तर प्रदेश में शराब के ठेकों व पान मसाला तंबाकू के पुनः खुलने से कोरोना योद्धाओं और महिला शक्ति की हार है उपरोक्त बात सोसायटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में एंटी करप्शन फाउंडेशन आफ इंडिया, मानवाधिकार महासंघ, जर्नलिस्ट एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के सहयोग से शराब हटाओ कोरोनावायरस मिटाओ अभियान के तहत उत्तर प्रदेश में रेड जोन में भी शराब के ठेकों को खोलने के प्रदेश सरकार के निर्णय के विरोध में मुख्यमंत्री को संबोधित जिलाधिकारी कानपुर के माध्यम से ज्ञापन देते हुए अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरू ज्योति बाबा ने कहीं । ज्योति बाबा ने आगे कहा कि शराब के ठेकों और खुलेआम बिकते पान मसाला तंबाकू से कोरोना महामारी बन सकती है, इसीलिए बिना देर किए उत्तर प्रदेश में शराब के ठेके व पान मसाला तंबाकू अविलंब बंद किए जाएं । क्योंकि खाने वाले जगह-जगह कोरोना वायरस को फैलाने का काम कर निश्चित रूप से महामारी फैल।एंगे । और यदि ऐसा हुआ तो हम 20 साल पीछे चले जाएंगे । मानवाधिकार महासंघ के अध्यक्ष रामसुख यादव ने कहा कि प्रदेश में जहां 45 दिन घर-परिवार में शांति रही महिलाओं ने विषम परिस्थितियों में परिवार चलाया ,लेकिन शराब के ठेकों और पान मसाला तंबाकू ने ना सिर्फ उनका बजट बिगाड़ दिया बल्कि घर में हिंसक माहौल भी हो गया, इसीलिए शराब ठेकों को बंद किया जाए।
एंटी करप्शन फाउंडेशन ऑफ इंडिया के डिस्ट्रिक्ट इंचार्ज दिलीप कुमार मिश्रा ने कहा कि लॉक डाउन में शराब के ठेके व पान मसाला तमाखू बंद रहने तक प्रदेश में हिंसा का माहौल नहीं था लेकिन ठेके खुलते ही हर अखबार हिंसा से भरा पड़ा हुआ है इसीलिए सभी स्वास्थ्य सैनिक माननीय मुख्यमंत्री जी से अपील करते हैं कि कोरोना महामारी को मिटाने के लिए शराब, पान मसाला तंबाकू पर प्रतिबंध लगाइए ।ऑनलाइन ज्ञापन देने वालों में प्रमुख अमित गुप्ता, रवी शुक्ला, आदित्य पोद्दार, उमेश शुक्ला, दिलीप सिंह सैनी, पादरी सत्येंद्र श्रीवास्तव, महंत राम अवतार दास आदि लोग मौजूद रहे।