आपको बता दे कि मध्य प्रदेश के रतलाम में पीपीई किट पहनकर शादी का मामला सामने आया है। दूल्हे के कोरोना पॉजिटिव होने के चलते उसके अलावा दुल्हन ने भी पीपीई किट पहन ली और फिर शादी संपन्न कराई गई।

पीपीई किट पहनकर ही दूल्हा और दुल्हन ने अग्नि के 7 फेरे लिए, जबकि पंडित मंत्रोच्चार करते दिखे। इसके अलावा तीन अन्य लोग भी दिख रहे हैं।

रतलाम के तहसीलदार नवीन गर्ग ने इस शादी को लेकर कहा, ‘दूल्हा 19 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव हो गया था। हम यहां शादी को रुकवाने पहुंचे थे, लेकिन परिवार के लोगों के आग्रह और सीनियर अफसरों की सलाह के बाद इसे मंजूरी दी गई। दूल्हा और दुल्हन दोनों ही पीपीई किट पहने थे ताकि कोरोना का संक्रमण न फैल सके।’ भले ही कुछ लोग एहतियात के साथ शादी की तारीफ भी कर रहे हैं, लेकिन ऐसे भी लोग हैं, जिनका कहना है कि शादी के लिए इंतजार किया जा सकता था।

 इससे पहले रविवार को भी केरल में पीपीई किट पहनकर शादी किए जाने का मामला सामने आया था। इस बीच मध्य प्रदेश के भिंड जिले के एसपी मनोज कुमार सिंह ने ऐलान किया है कि 10 या उससे कम लोगों के साथ शादी करने वाले दूल्हा और दुल्हन को वह अपने घर पर भोज देंगे। मनोज कुमार सिंह ने कहा, ’10 या उससे कम मेहमानों की मौजूदगी में शादी करने वाले दूल्हा और दुल्हन को मैं अपने घर पर डिनर के लिए आमंत्रित करूंगा। ऐसे कपल्प को सम्मानित किया जाएगा और उन्हें मोमेंटो प्रदान किए जाएंगे। इसके अलावा उन्हें लाने और ले जाने के लिए सरकार वाहन की भी व्यवस्था की जाएगी।

@GRAMANCHALNEWS