हम पुलिस वाले हैं, आगे लूट हो गई है, मां जी अपने जेवर उतार लो… फिर क्या हुआ जाने पूरी सच्चाई;कैसे कर दिया लाखो के जेवर पार।

share on:

★कानपुर ब्यूरो 【शोभित पाण्डेय】

◆कानपुर:- काकादेव स्थित सिंधी कॉलोनी के पास व्यापारी की वृद्ध मां टप्पेबाजी का शिकार हो गई। खुद को पुलिस वाला बता टप्पेबाजों ने वृद्ध महिला के जेवर उतरवाए और फिर लुटेरों का भय बताते हुए जेवर लेकर चंपत हो गए। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू की है, करीब एक लाख रुपये के जेवर होने की बात कही जा रही है।

सिंधी कॉलोनी निवासी विश्वनाथ आहूजा कृषि यंत्रों के कारोबारी हैं। उन्होंने बताया कि मंगलवार की दोपहर करीब 1:30 बजे मां कौशल्या देवी काली मठिया के पास दवा लेने गईं थीं। मां रिक्शे से घर लौट रही थी। इस बीच सिंधी कॉलोनी चौराहा के पास बाइक सवार तीन युवकों ने आकर रिक्शा रोक लिया। बाइक सवारों ने खुद को पुलिस वाला बताया और आगे लूट होने की बात कही। कहा, मां जी लुटेरे इसी तरफ भागे हैं आप अपने जेवर उतारकर बैग में रख लीजिए वरना आपके साथ लूट हो सकती है।

इसपर मां ने अपने दो कंगन और तीन अंगूठियां उतार कर बैग में रख लीं। कुछ ही देर में वही बाइक सवारों ने मां से जेवर ठीक ढंग से रखने की बात कहकर बैग ले लिया। कुछ ही देर में मां को बैग लौटाने के बाद बाइक सवार चैन फैक्ट्री चौराहे की तरफ चंपत हो गए। घर पहुंचकर बूढ़ी मां ने बैग खोला तो उसमें कांच की चूडिय़ां मिलने पर टप्पेबाजी का अहसास हुआ। घटना की जानकारी पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आसपास के लोगों से पूछताछ की। थाना प्रभारी राजीव सिंह का कहना है कि घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखकर टप्पेबाजों की तलाश की जा रही है।

share on: