साहित्य

43 views

हिन्दू जागरण मंच के प्रदेश अध्यक्ष पीयूष मिश्रा व समस्त कार्यकर्ताओं के द्वारा काला दिवस मनाया गया।

कानपुर संवाददता(शोभित पाण्डेय) अखण्ड भारत महज सपना नहीं, श्रद्धा है, निष्ठा है. जिन आंखों ने भारत को भूमि...

211 views

मजहबी इंसान।

----------- हर मजहबी अकराम अब छपते अखबारों में, सियासत शामिल होता है , अबके त्योहारों मे, खुशगर्दी किसको...

275 views

अधिक शराब स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। नशा

क्यों ना मैं मयखाने जाऊं क्यों ना मैं बोतल पाऊं हर बूंद में स्फूर्ति है जिसके क्यों ना...

212 views

पहली बारिश।

आज पहली बारिश से लगता है कुछ ऐसे प्रभु ने आज फिर से पुनर्जन्म किया हो जैसे ।...

220 views

बादल।

नई सदी का नया सूरज बिखेर रहा छरहरी छटा, प्रतिपल यामिनी चमक-दमक दिखा रही है खेल नया। काले...

171 views

नटखट बचपन।

चिलचिलाती हुई धूप में नंगे पाँव दौड़ जाना, याद आता है वो बचपन याद आता है बीता जमाना।...

280 views

असफलता के आगे जीत है।

------------दोस्तों, युवा वर्ग में आजकल जो प्रवृत्ति तेजी से बढ़ रही वो है रातो रात सफल हो जाने...

423 views

प्रकृति देवी।

यूं ना अश्रु बहाओ मन में तुम धीर धरो, जा रहा हूं हे प्रकृति देवी हंसकर मुझे तुम...

448 views

अपनापन —

विस्मृत हो चला नितान्त तु खोज हृदय एकान्त ! किंकर्त्वयमूढ़ बन कर मन को होने दे अशान्त !...

80 views

यादों की पुरवाई —

यादों की चली है ऐसी पुरवाई । पुरानी चोट कोई फिर उभर आई ।। कभी तो लोग कहते...